Village of dwarf

Village of Dwarf: बौनों का रहस्य गांव, इस गांव में लोगों आना का वर्जित है

अजब गजब

दुनिया में ऐसी बहुत सी जगह है जो आज भी लोगों के लिए रहस्यमय है । Village of dwarf  उसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे आज हम आपको ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जो आज भी दुनिया के लिए रहस्य बना हुआ है। आपने परी कथाओं में जरूर ऐसे गांव का जिक्र सुना होगा पर ये असल का गांव है जहाँ पर सिर्फ बौने लोग (Village of dwarf) ही रहते है।

इसे भी पढें-  एक ऐसा रहस्यमय मंदिर जहां भगवान को चिठृठी लिखने से होती है सारी मुराद पूरी | Chitai Golu Devta Man

बौनो का गांव || Village of dwarf

चीन मैं एक ऐसा गांव है जहां पर लगभग सभी व्यक्ति बौने (Village of dwarf) है। यह गाँव ‘ड्वार्फ विलेज ऑफ़ चाइना’ के नाम से फेमस है। चीन की सरकार किसी भी विदेशी व्यक्ति को इस गांव में आने की परमिशन नहीं देती है। जिस कारण इस गांव की जानकारी बहुत कम लोगों को है। यह गाँव चीन के शिचुआन प्रांत के दूर-दराज़ पहाड़ी इलाके में स्थित है। गाँव का नाम यांग्सी है। इस गांव में लोगों का कद 2.1 फीट से लेकर 3.2 फीट तक है। इसलिए बौनों का गांव भी कहा जाता है। इस गांव के लोगों का छोटा कद आज भी रहस्य बना हुआ है। इस बात का पता आज तक कोई नहीं लगा पाया कि इस गांव के लोगों का कद  इतना छोटा क्यों है। सामान्य तौर पर आबादी के .005% लोग ही बोने होते हैं। इसका अर्थ है 20,000 इंसानों में एक इंसान बोना होता है। परंतु इस गांव में 80 लोगों में से 36 लोगों का कद छोटा है।

सन् 1940 में एक अंग्रेज ने इस इलाके के बारे में बताया कि उसने इस जगह पर सैकड़ों बौने देखे है। तब इस गांव के बारे में पता चला। वैज्ञानिक द्वारा रिसर्च करने पर सन 1951 में इस बात का पता लगा कि यह एक बीमारी है जिसके कारण अचानक ही लोगों के अंग छोटे होने लगे। परंतु इस बीमारी पर काबू नहीं पाया जा सका और पीढ़ी-दर-पीढ़ी यह बीमारी बढ़ती चली गई इस कारण आज भी यहां के लोग बौने रह जाते हैं।

इस गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि उनकी खुशहाल और सुक़ून भरी ज़िन्दगी कई दशकों पूर्व ही ख़त्म हो चुकी है। बहुत साल पहले इस गांव में एक रहस्यमय बीमारी फैल गई थी। इस बीमारी का असर 5 से 7 साल के बच्चों पर हुआ जिस कारण उन बच्चों का कद बढ़ना बंद हो गया। उस बीमारी के बाद से ही गांव के लोग अजीबोगरीब हालात से जूझ रहे हैं। इस बीमारी के बाद से ही अचानक इस गांव में बच्चों का कद बढ़ाना बंद हो गया और आज भी उनकी हाइट 2.1 फीट से लेकर 3.2 फीट तक ही रहती है। पिछले 60 सालों से वैज्ञानिक इस गांव के लोगों के बोने होने कारण ढूंढ रहे हैं परंतु आज तक इसकी कोई ठोस वजह नहीं मिल पाई है।

यहां पर कई वैज्ञानिक और विशेषज्ञ इस गांव की मिट्टी, पानी, अनाज, हवा आदि का कई बार अध्यन कर चुके हैं परंतु इस बीमारी का कारण खोजने में आज तक सफल नहीं हुए। कुछ लोगों का मानना है कि यहां पर लोगों की कद कम होने का मुख्य कारण जापान द्वारा छोड़ी गई विषैली गैसें है जो दशकों पहले जापान ने चीन पर छोड़ी थी। परंतु जापान का कहना है कि वह कभी भी चीन के इस क्षेत्र में नहीं पहुंचा। ऐसे ही लोगों ने कई तरह की बातें कही परंतु इनका कोई सही प्रमाण नही मिला है।

इसे भी पढें-    Best Kahaniyan: भगवान ने भक्त रामानुज को बताई अपने भक्तों की पहचान।

वहां आस पास के लोग इसे काले जादू और बुरी शक्तियों से जोड़ कर देखने लगे हैं। कुछ लोगों का मानना है कि मरने के बाद उनके पूर्वजों को सही तरीके से न दफनाने होने के कारण यह सब हो रहा है। फिलहाल चीन सरकार ने इस गांव में लोगों (Village of dwarf) के जाने पर प्रतिबंध लगा रखा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.