Aashu bhai

कौन है ये मशहूर बाबा आशु भाई गुरुजी उर्फ़ आसिफ खान, आश्रम बुला बच्चियों से करता था दुष्कर्म

भारत

लोग जिसे बाबा आशु भाई गुरूजी मानकर पूज रहे थे, उसका असली नाम आसिफ खान है।  वोटर लिस्ट में आशु महाराज का नाम आसिफ खान और बेटे का नाम समर खान लिखा हुआ है । रेप के एक मामले में पुलिस उन दोनों की तलाश कर रही है।

नई दिल्ली । राजधानी के एक और बाबा आशु गुरु जी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। दिल्ली के हौजखास थाना में बाबा की एक महिला भक्त ने आरोप लगाया कि बाबा के बेटे और उसके दोस्त ने उसे जान से मारने की धमकी देकर कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

गाजियाबाद की एक महिला ने बाबा आशु गुरु जी पर रेप का आरोप लगाया। महिला के मुताबिक उसकी बेटी के पैरों में दिक्कत थी। 2008 में अपनी बेटी के इलाज के लिए वो आशु के संपर्क में आईं तब से वह आशु के आश्रम जाया करती थीं। साल 2013 में आशु ने अपने साथियों के साथ मिलकर रेप किया। उसके बाद यह सिलसिला चलता रहा और महिला को ब्लैकमेल करके उसके बेटे ने भी महिला का रेप किया। परेशान होकर महिला ने हौज़खास थाने में शिकायत दर्ज करवाई। जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि आशु महाराज का असली नाम आसिफ खान है। फिलहाल आसिफ फरार है और पुलिस उसे ढूंढ रही है।

1990 में झुग्गी में रहने वाला आसिफ वर्तमान में करोड़ों का मालिक आशु भाई महाराज बन गया।

आशु बाबा के आशु गुरुजी बनने की कहानी बेहद ही रोचक है। अपने आप को TV चैनल पर विश्व विख्यात ज्योतिषाचार्य और हस्तरेखा विशेषज्ञ बताने वाले आशु भाई गुरूजी का असली नाम आसिफ खान है। आसिफ खान 1990 तक दिल्ली के वजीरपुर की एक झुग्गी बस्ती में रहता था। उसने अपना नाम बदला और आसिफ से आशु भाई महाराज हो गया। वहां वह लोगों के हाथ देखने लगा. उसका धंधा चल निकला। वह टीवी चैनलों पर भी भविष्यवाणी करता। लोग उससे जुड़ते गए और वो अब भविष्यवाणी करने के साथ-साथ दवाइयां भी बनाने लगा था।

आशु गुरु जी बनकर नामी टेलीविजन चैनलों पर लोगों की सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान के लिए मोटी फीस लेता है। टेलीविजन पर कार्यक्रम के दौरान फोन इन लाइव कार्यक्रम में आशु भूत-प्रेत की छाया से बचाने और काल सर्प दोष आदि का उपाय करने का दावा भी करता है। इसका ऑफिस रोहिणी सेकटर-7 बी 4/77-78 में है। इस ऑफिस में वह सुबह 4 से 8 बजे तक लोगों से मिलता है। इसके अलावा, दक्षिण दिल्ली के हौजखास में भी उसका एक ऑफिस है। हौजखास में आश्रम की दीवारों पर ढोंगी बाबा की फोटो पेंट की गई हैं। साथ ही वहां आयुर्वेदिक दवाइयां और ज्योतिष संबंधित किताबें भी बेची जाती हैं। दिल्ली में पीतमपुरा के तरुण एंक्लेव में  इसका का मकान है ।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, पीड़ित महिला (40) यूपी के गाजियाबाद के इंदिरापुरम की रहने वाली है। महिला ने हौजखास थाना पुलिस को बताया है कि वह आशु बाबा को वर्ष 2008 से जानती है। उसकी बेटी उस समय छह वर्ष की थी जो पोलियो से पीड़ित है।

आरोपित बाबा ने महिला से इलाज के लिए बेटी को रोहिणी स्थित आश्रम में लाने को कहा। आरोप है कि बाबा बच्ची को निर्वस्त्र कर उसकी मालिश करता था। यह सिलसिला वर्ष 2013 तक चलता रहा। पीड़िता वर्ष 2013 में दिवाली पर बाबा के रोहिणी स्थित आश्रम में गई थी। जहां आश्रम के मैनेजर ने नशीला पेय पिलाकर बाबा व उसके साथियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

आशु भाई गुरुजी, उसके बेटे और दोस्त के खिलाफ दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी की धारा के तहत मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.