complete lockdown in India

क्या संपूर्ण lockdown ही कोरोना से बचाव का एकमात्र उपाय है?

कोरोना भारत

कोरोना के इस मुश्किल दौर में चारे तरफ Lockdown की बात सुनने को मिल रही है। सभी लोग यह जानना चाहते है कि क्या सरकार इस बार भी संपूर्ण Lockdown लगा सकती है या नहीं। संपूर्ण lockdown के नाम से सभी डरे हुए है कि कहीं last year जैसी हालत न हो जाये। अभी तो सब धीरे धीरे ठीक करने की कोशिश की जा रही थी कि कोरोना को second wave आ गयी और परिस्थिति पहले से और भी ज्यादा खराब हो गई। अब इस condition में यह तय नही किया जा रहा है कि देश में संपूर्ण lockdown करना ठीक है या नही। वैसे देखा जाए तो अभी तक कई राज्यों ने night curfew और weekend lockdown पर ध्यान दिया हुआ है। तो कुछ ने 15 दिन का lockdown की घोषणा कर दिया है। लेकिन संपूर्ण देश मे एक साथ lockdown करना बहुत मुश्किल है।

इसे भी पढें-   क्या Second Wave से भी विनाशकारी होगी Corona की तीसरी लहर, ये कब आएगी ?

क्या पूरे देश में संपुर्ण lockdown लगाना सही decision होगा

यदि कोरोना की rate को कम करना है तो lockdown के अलावा दूसरा कोई उपाय नही मिल रहा है। क्योकि कोरोना के केस काफी तेजी से बढ रहे है और हालत इतनी गंभीर हो गई है कि अस्पतालों में liquid oxygen की कमी हो गई है। लोग अपने परिजनों को बचाने के लिए स्वंय लाइनो में खङे होकर cylinder में oxygen की refilling करवा रहे है। ऐसी हालत में lockdown लगना ही ठीक लग रहा है। अलग अलग देशो से मदद आ रहे है, लोग India के लिए pray कर रहे है। जिससे जितना हो पा रहा है मदद के लिए आगे आ रहे है।सरकार भी lockdown के बारे में सोच रही है जिससे की हालात पर कुछ काबू पाया जा सके।

लेकिन एक आम आदमी के लिए lockdown मतलब बहुत बङी बात हो जाती है। हमारे देश में अभी भी ऐसे अनेक लोग है जैसे की दिहाङी मजदूर जो रोज कमाते है और उन्ही पैसो से खाते है lockdown लग जाने के बाद उन्हे बहुत परेशानियों का सामना करना पङेगा। क्योकि lockdown के वजह से वे अपने काम पर नही जा सकेगे। बहुत से लोग ऐसे है जो rent पर दुकाने चलाते है यदि संपूर्ण lockdown होने के वजह से उनकी कमाई रुक जाएगी और rent उन्हे अपने घर से देना पङेगा। इतना ही नहीं यदि किसी के पास rent देने का पैसा नही हुआ तो उसे न चाहते हुए भी अपनी दुकान खाली करनी पङ सकती है।

पिछली बार lockdown के समय कई छोटी बङी companies ने बहुत नुकसान झेला, उनमें से ऐसे अनेक companies थे जो नुकसान नही झेल पायी और इस वजह से बंद हो गए। कई employees की नौकरियां भी चली गई थी, लोग बेरोजगार हो रहे थे। यदि फिर से lockdown हुआ तो वापस से ये सब देखना पङेगा। संपूर्ण lockdown लगने से केवल आम मनुष्य ही नही बल्कि देश को भी काफी नुकसान होगा, GDP या financial condition काफी खराब हो जायेगी, अन्य देशो के मुकाबले काफी पीछे हो जाएगे।

Lockdown के अलावा दूसरा उपाय क्या है

Lockdown के अलावा फिलहाल जो उपाय है वह यह है कि हमें बिना वजह अपने घरो से बाहर नहीं निकलना चाहिए। एक दूसरे से जितना हो सके उतना दूरी बना कर रखना पङेगा। सरकार को भी oxygen की supply बढानी पङेगी, और उस पर कङी से कङी निगरानी भी रखनी पङेगी। कोरोना की रेट को कम करने के लिए night curfew और weekend lockdown का लगाना तो सही है लेकिन यह सही तरीके से implement हो रहा है या नही इस बात पर भी ध्यान देना होगा। कुछ लोग ऐसे भी है जो weekend lockdown में भी बेवजह बाहर घूमते रहते है तो ऐसे नियम तोङने वालो पर सख्त सजा भी होना चाहिए जिससे की इस दर से कोई और यह गलती न करे।

इसे भी पढें-   COVID-19 संक्रमितों में हो रही हार्ट अटैक की समस्या, जानें क्या है लक्षण और उपचार के उपाय

संपूर्ण lockdown होगा या नही यह अभी कोई नही बता सकता है। सरकार इस पर विचार विमर्ष कर रही है, यदि जरूरत पङी तो न चाहते हुए भी lockdown लगाना पङेगा। इसका असर अनेको पर पङेगा लेकिन समझदारी इसी में है कि जितना हो सके हमें उतना सतर्क रहना पङेगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.