corona positive

सहारनपुर के पंकज चोपडा ने जीती कोरोना जंग, अब है पूरी तरह स्वस्थ

कोरोना

सहारनपुर के पंकज चोपडा जो कोरोना पोजिटिव होने के बाद 35 दिन तक अस्पाल में रहे और कोरोना पर जीत हासिल कर आज पूर्णरूप से स्वस्थ होकर News Heights से बात कर रहे है। उन्होने अस्पताल में हुए उनके साथ व्यवहार और कोरोना को हराने के कुछ प्रभावी तरीको को हमारे साथ साझा किया।

ये भी पढें-  घर में आइसोलेशन की जगह नहीं मिली तो तेलंगाना के शिवा ने खुद को पेड़ पर किया आइसोलेट

पंकज चोपडा बताते है कि 40 दिन पहले अचानक से मुझे बुखार और खासी होने लगी। टैस्ट कराया तो पता लगा की कोरोना पोजिटिव आया है। मेरी सांस भी फूलने लगी थी मै तुरन्त अस्पताल में भर्ती हो गया। अस्पताल के ICU में मुझे रखा गया मेरे आस पास 5 से 6 मरीज और थे वे सब भी कोरोना के ही शिकार थे। कोई बहुत तेज खांस रहा था तो कोई तेज तेज सांसे ले रहा था। मै बहुत डरा हुआ था कही मेरी हालत भी ऐसी न हो जाये। मेरी पास लेटे लोग ऱोज मर रहे कभी कभी तो दिन में 2 से 3 लोगो की मृत्यु हो जाती थी। उस समय मै बहुत अधिक मानसिक तनाव से गुजर रहा था। लेकिन मै ठान चुका था कि मुझे सही होना ही है और कोरोना को मैं हराकर ही दिखाऊगा।

आगे पंकज चोपडा बताते है की कोरोना को हराना है तो हमे अपने इम्यूनिटी सिस्टम को ठीक करना ही होगा। अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढानी होगी। इसे ही ध्यान में रखकर मैने अपने खानपान को ठीक किया। मेरे लिए जो भी खाना आता था उसे मै पूरा खाता था। बिमारी के कारण बहुत कमजोरी आ गयी थी कुछ भी खाने का मन नही करता था थोडा सा भी कुछ खा लेता था तो उल्टी हो जाती थी। बाबजूद इसके मै अपना खाना पूरा खाता था। मुझे एक बार का खाना खाने में 3 से 4 घंटे लगते थे। क्योकि जैसे ही मै कुछ खाता तो उल्टी हो जाती मै थोडी देर बाद फिर से खाता तो फिर उल्टी हो जाती थी इस तरह मुझे एक समय का खाना खाने में 3 से 4 घंटे लग जाते थे। अस्पताल का स्टाफ मुझसे खाने के लिए मना भी करता था कि अगर आपसे नही खाया जा रहा है तो आप खाने को छोड दो, अगर आपको खाने से उल्टी हो रही है तो आप खाना ना खाये।

ये भी पढें-   कोरोना से पीड़ित पद्मश्री डॉक्टर केके अग्रवाल का हुआ निधन, वैक्सीन के ले लिए थे दोनों डोज़

मै जानता था की अन्न से और खाना खाने से शरीर को ऐनर्जी मिलती है और शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढती है। और दूसरा मैने पानी पीने पर बहुत ध्यान देता था मुझे प्यास नही लगती थी तब भी मै पानी बहुत अधिक मात्रा में पीता था। क्योकि जितना अधिक हम पानी पिएंगे, हमारे शरीर के टॉक्सिन्स उतनी ही जल्दी बाहर निकलेंगे और हमारी शरीर की रोग से लडने की क्षमता बढती है। इन सभी तरीको अपनाकर आज मैं कोरोना निगेटिव हूँ और पूर्ण रुप से स्वस्थ भी हूँ।

Spread the love

3 thoughts on “सहारनपुर के पंकज चोपडा ने जीती कोरोना जंग, अब है पूरी तरह स्वस्थ

  1. उल्टी होने पर खाना नही खाना चाहिए क्योकि बार बार उल्टी होने पर पेट खाली हो जाता है तब करोना और जल्दी अटैक कर सकता है। आपके साथ ये हुआ होगा कि जैसे ही आप उल्टी करते होगे तो उल्टी के साथ कोरोना बैकटीरिया भी बाहर आ जाता होगा। इसीलिए आपकी बॉडी पर कोरोना का असर नही रहा। खैर जो भी हो भगवान आपको स्वस्थ रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.