How to control BP in hindi

BP की समस्या को नियंत्रित करने के टिप्स || How to Control BP (Blood Pressure) in Hindi

स्वास्थ्य

BP (Blood Pressure) की समस्या बहुत common हो गई है, यह आजकल हर दूसरे लोगों में देखने को मिल जाती है। Blood Pressure की समस्या बढती उम्र और खान पान के कारण होता है इसके अलावा मोटापा, stress, cigarette या अधिक शराब पीने के वजह से भी BP (Blood Pressure) की समस्या हो सकती है। ज्यादा नमक खाने से या ज्यादा पोटैशियम का सेवन करने से भी BP की समस्या हो सकती है। यदि आपको भी BP की समस्या है और इसका बचाव करना चाहते है तो यह article से आपको काफी मदद मिल सकती है।

इसे भी पढें-   Diet In Arthritis: गठिया में किन बातो पर ध्यान देना चाहिए || गठिया के रोगियों को क्या खाना चाहिए

BP (Blood Pressure) से कौन कौन सी बीमारियां भी हो सकती है?

यदि आपका BP (Blood Pressure) बढा हुआ है तो इसे कभी भी हल्के में न ले क्योंकि High BP वाले मरीजों को सामान्य मनुष्य की अपेक्षा Heart attack होने की सम्भावना ज्यादा होती है। इसके अलावा दिल से संबंधित दूसरी बीमारी एवं मस्तिष्क संबंधी, किडनी रोग और स्ट्रोक इत्यादि भी होने का खतरा बढ जाता है। High BP के वजह से रेटिना में Blood Vessels खराब होने का भी खतरा बढ जाता है जिसका असर सीधे आंखो की रौशनी पर पङता है।

Blood Pressure (BP) से बचाव कैसे करे?

BP (Blood Pressure) के मरीजों के लिए नियमित रूप से दवाइयां तो जरूरी है ही इसके बदले योगा, exercise भी काफी जरूरी है। शराब या धुम्रपान का सेवन से परहेज करना चाहिए एवं नमक का सीमित मात्रा मे ही सेवन करना चाहिए। इसके अलावा मसालेदार खाने से दूरी बना लेना चाहिए, BP के मरीज को अपने diet में केला, पालक एवं साबुत अनाज का सेवन करना चाहिए।

High BP (Blood Pressure) को रोकने के लिए क्या खाना चाहिए?

यदि आप High BP की समस्या से गुजर रहे है तो खाने में Sodium का इस्तेमाल कम करे, अपने वजन को भी कम करे और उसे Maintain रखे। उच्च पोटाशियम का सेवन करे, खाने में फल एवं सब्जियों पर जोर दे। चाय एवं कॉफी का सेवन करे, कभी कभी तो डॉक्टर भी भोजन के साथ चाय कॉफी लेने की सलाह देते है।

 

निम्न रक्तचाप (Low Blood Pressure) के मरीजों को क्या करना चाहिए?

निम्न रक्तचाप या low BP वाले मरीज को खाने में Carbohydrate वाले आहार जैसे की आलू, पास्ता, चावल, ब्रेड का सेवन सीमित मात्रा में करे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की low BP वाले मरीज को नमक ज्यादा मात्रा मे लेने को कहा जाता है। इसलिए यदि आपका Low BP है तो डॉक्टर से सलाह लेकर ही नमक का अधिक सेवन करे।

ज्यादा पानी का सेवन करे, ये शरीर मे शुष्कता को रोकने में मदद करता है। यदि चक्कर या बेहोशी आ रही हो तो पानी की मात्रा को बढा देना चाहिए।

चुकन्दर का इस्तेमाल करे, चुकन्दर या चुकन्दर का जूस शरीर के लिए काफी फायदा करता है। BP (Blood Pressure) अगर Low है तो नमक, पानी और चीनी का घोल को बार बार पीते रहे जिससे की BP कुछ हद तक control में रहे।

कृपया करके BP (Blood Pressure) की समस्या होने पर मसालेदार, मांसाहरी, ज्यादा तेल घी, जंक फूड इत्यादि का सेवन करने से रोक लगाना होगा। क्योकि यह BP के मरीजों के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

 

BP (Blood Pressure) को नियंत्रित करने के कुछ टिप्स|| How to Control BP in Hindi

 

निम्न रक्तचाप (Low Blood Pressure) के लिएः

1. हमेशा धीरे धीरे उठने की कोशिश करे क्योंकि झटके से उठने से चक्कर आ सकता है और आप गिर सकते है।

2. हर घण्टे कुछ न कुछ खाते रहे लेकिन चावल, आलू, ब्रेड इत्यादि से बचे रहे और व्रत या उपवास न करे। ज्यादा देर खाली पेट रहने से सेहत खराब हो सकती है।

3. कम से कम 6-8 घण्टे की पर्याप्त नींद लेने की कोशिश करे।

 

उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) वालों के लिए:

1. उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) वालों को कम से कम 8 ग्लास पानी रोज पीना चाहिए केवल पानी ही नही अन्य पेय पदार्थ जैसे की चाय कॉफी का भी सेवन करना चाहिए।

2. खाने में नमक की मात्रा कम करना चाहिए। क्योकि High BP वालों के लिए नमक हानिकारक होता है।

3. इसके साथ ही भोजन में carbohydrate की मात्रा भी कम करना चाहिए।

4. High BP वाले मरीजों को दवा भी कम खाना चाहिए।

इसे भी पढें-    क्या आप चाहते है Depression से मुक्त होना ? इन टिप्स के सहारे डिप्रेशन को करे दूर

यदि आपको भी BP ( Blood Pressure की समस्या है तो पहले डॉक्टर से सलाह ले और अपने खान पान को ठीक करे।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.